Home

पन्ना मे स्थानीय आदिवासियों ने कलेक्टर एवं वन विभाग के अधिकारियों को सौपा पत्र

Leave a comment

बहेरा ग्राम मे पुश्तो से बसे हुये आदिवासी जिनको वन अधिकार कानून के अंतर्गत पट्टे के लिए दिये गए थे। उनको जबरन वहाँ से हटाया जा रहा है। स्थानीय आदिवासियों का कहना है कि भूमि अधिकार पत्र आदिवासियो को सौपा जाय। यदि ऐसा नही होता है तो आदिवासियो को मजबूरन प्रशासन के विरुद्ध आंदोलन करना पड़ेगा। ग्रामीणो का कहना है कि सभी ग्रामवासी भूमिहीन एवं आवासहीन है। तथा बिना कोई सूचना दिये वन अमले द्वारा हटाये जाने की कार्यवाही की जा रही है। इस आशय का ज्ञापन लेकर कलेक्टर को दिया जा रहा है। ज्ञापन सौपने वालों मे सज्जू आदिवासी, हरीलाल गौड़, अखिलेश आदिवासी छोटा, राधा, रामदीन, जयंती, रामकली, द्रौपदी, कविता, शीला, मेनबाई, सकुनबाइ, महंती, नीमबाई, रामनरेश, प्रियाबई, जीवनलाल, सिया, अमर कुमार, मस्तराम, बाटा, मटरतान, बसंता सहित बड़ी संख्या मे आदिवासी समाज एवं पुरुष तथा बच्चे शामिल रहे। इसके साथ ही समाजसेवी युसुफबेग तथा कांग्रेसी नेता अनीष खान ज्ञापन कार्यक्रम मे उपस्थित रहे।

प्रमुख समाचार लिंक

उजाड़े जा रहे आदिवासियों के घरोंदे

कड़कड़ाती ठंड मे आदिवासियों के घरोंदे उजाड़े जा रहे

कड़कड़ाती ठंड मे उजाड़े जा रहे आदिवासियों के घरोंदे

कड़ाके की ठंड मे उजाड़े जा रहे आदिवासियों के घरोंदे

वन अधिकार के अंतर्गत दिलाये जाए भूमि अधिकार पत्र

अब तक सिलिकोसिस से छह मजदूरों की मौत, कई मौत के कगार पर

Leave a comment

तिल-तिल मरने को मजबूर है मजदूर

पत्थर खदानों मे जीवन भर काम करने वाले मजदूरों के दम पर खदान संचालक मालामाल हुए और गरीब मजदूर लाइलाज बीमारी से मरने को मजबूर है। ज़िले मे सिलिकोसिस से ग्रस्त अब तक छह मजदूरों की मौत हो चुकी है। और प्रशासन द्वारा आज तक कोई प्रभावी कदम नही उठाया गया है। इससे बीमार हर दिन अपने को मौत के करीब जाते देखने के बाद भी कुछ नही कर पा रहा है।

गौरतलब है कि कुछ साल पहले ही सामाजिक संगठन की पहल से ज़िले के कुछ खनन मजदूरों का परीक्षण कराया गया तो इस बीमारी के बारे मे पता चला कि पन्ना मे सिलिकोसिस से पीड़ित मजदूर बड़ी संख्या मे है। बताया जाता है कि ज़िले मे खनन मजदूरों को सिल्का डस्ट के कारण यह बीमारी होती है। और धीरे-धीरे काम करने बंद कर देते है। जिससे मजदूर की मौत लगभग तय हो जाती है।

सिलिकोसिस मजदूरों का परीक्षण करने वाली सामाजिक संस्था पत्थर खदान मजदूर संघ के अध्यक्ष युसुफ बेग ने बताया कि ज़िला प्रशासन ने कभी भी इन मजदूरों की सुध नहीं ली। विस्तार से जानने के लिए क्लिक करें।

प्रत्येक खदान मे सीमा चिन्ह लगाएं: कलेक्टर

Leave a comment

मध्य प्रदेश मे पन्ना ज़िले के कलेक्टर ने पन्ना खदान तथा हीरा खदानों का निरक्षण किया। ज़िला के कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि खदान करवाने वाले सभी मालिक मजदूरो का विशेष ध्यान रखें। उन्हे जरूरी सुविधाए मुहैया कारवाई जाए। बचाव के लिए मास्क का उपयोग तथा धूल को रोकने के लिए पानी का छिड़काव किया जाए। समय-समय पर मजदूरो का नियमित परीक्षण करवाया जाय। जिससे उनका स्वास्थ्य सही रहे।

सभी खदाने केवल स्वीकृत क्षेत्र मे ही चालू करवाई जाए। खदानों मे मुनारे अनिवार्य रूप से बनवाए। नियत सीमा क्षेत्र का उलंघन करने वालों पर अधिकारी कड़ी कार्यवाही करे। कलेक्टर ने हीरापुर तथा माँझा के पत्थर खदानों के सीमांकन के निर्देस दिये। कलेक्टर ने दहलान चौकी मे 8 एकड़ निजी भूमि पर संचालित हीरा खदान का निरीक्षण किया। इससे निकले पत्थरों से खाखरी बनाई गयी है। हीरा खोदने के बाद भूमि को समतल करके खेती तथा वृक्षारोपण योग्य बनाया जाएगा। निरीक्षण करते समय एडीएम चन्द्रशेखर बालिम्बे,
एसडीएम अशोक ओहरी और संबन्धित अधिकारी मौके पर मौजूद थे।

मजदूरों के लिए स्वस्थ्य शिविर संपन्न

Leave a comment

पन्ना ज़िले के सुदूर जंगल मे स्थित ग्राम बिलदवार ग्राम पंचायत कर्णा और हड़ा ग्राम पंचायत जनपद पवई मे जहां पत्थर खदानों मे काम करने वाले मजदूरों के लिए पत्थर खदान मजदूर संघ, श्रम शक्ति महिला सेवा संस्थान और वन विभाग के संयुक्त प्रयास से स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन 26 एवं 27 मई 2014 को लगाया गया था। जिसमे 180 मजदूरों को स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाएं बितरित की गयी। इस गाँव के सभी आदिवासी मजदूर पठार खदानों मे कम करते है। और इस गाँव मे ज़्यादातर मजदूरों को टी॰ वी॰ से ग्रसित पाया गया है। साथ ही परीक्षण करने वाले डॉ॰ अमित मिश्रा एम॰ ओ॰ मोहन्द्रा का कहना है कि इन मजदूरों को सिलिकोसिस होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।  विस्तार से देखे

मजदूरों और उनके परिवार वालों का स्वास्थ्य परीक्षण

दुर्गम पठारी गाँव मे लगाया शिविर

दुर्गम पठारी गाँव मे लगाया शिविर

1- 2- 13
8 4 3

पन्ना जिले में मनाया गया विश्व मजदूर दिवस

Leave a comment

पत्थर खदान एवं मजदूर संगठन ने इन्विरोनिक्स ट्रस्ट एवं समता के सहयोग से 01 मई को विश्व मजदूर दिवस समारोह का आयोजन किया गया था। जिसमे अलग-अलग संगठन के मजदूरों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया। अपनी अपनी समस्याओ को एक दूसरे से साझा करते हुये सफलता पूर्वक मनाया। अपने हक तथा मुवाबजे के लिए नई रणनीति बनाई। आचार संघिता खत्म होते ही तुरंत कार्यवाही करने की नई रणनीति बनाई। सिलिकोसिस से पीडित मजदूरों को उचित मुवाब्जा एवं इलाज की व्यवस्था तथा जांच के पूरे प्रबन्ध करने के लिए सरकार पर दबाव बनाया जाए। जिससे मजदूरों को उसका हक मिल सके।

विस्तार से देखें

आचार संघिता समाप्त होने पर कार्यवाही की रणनीति

संगठित होकर करना होगा संघर्ष

संगठित होकर करना होगा संघर्ष - युसुफ बेग

मध्य प्रदेश के पन्ना ज़िले मे मनाया जा रहा है मजदूर दिवस

Leave a comment

प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष 1मई को इन्विरोनिक्स ट्रस्ट के माध्यम से पन्ना मे मजदूर दिवस मनाया जा रहा है। यह कार्यक्रम पत्थर खदान एवं मजदूर संघ के सभागार पंचम सिंह लॉज मे मनाया जा रहा है। इस माध्यम के द्वारा सभी मजदूर अपने विचार आपस मे साझा करेंगें। और समस्याओ के निराकरण का ज्ञापन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सौपा जाएगा।

मनाया जा रहा है मजदूर दिवस   मजदूर दिवस का ज्ञापन