साइट का निरीक्षण करने पहुंचे पीसीबी के अफसर को लोगों ने घेरा

कीर्तिनगर। स्टोन क्रशर के विरोध में आंदोलित ग्रामीणों ने साइट का निरीक्षण करने पहुंचे उत्तराखंड पर्यावरण सरंक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी का घेराव किया।
ग्रामीणों ने आक्रोश जताया कि पर्यावरण बोर्ड से एनओसी लिए बिना ही चल रहे क्रशरों पर कार्रवाई नहीं की जा रही है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी का कहना है कि दो क्रशरों के आवेदन विभाग को मिले हैं। अभी एनओसी निर्गत किया जाना बाकी है। बिना एनओसी के चल रहे क्रशरों पर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।
क्षेत्र में पांच स्टोन क्रशरों को लगाए जाने की शासन से मिली अनुमति के विरोध में मलेथा के ग्रामीणों का धरना प्रदर्शन 19वें दिन भी जारी रहा। रविवार को मलेथा में स्टोन क्रशरों की साइट का निरीक्षण करने उत्तराखंड पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी एनएस राणा पहुंचे तो ग्रामीणों ने उनका घेराव कर दिया। ग्रामीणों ने आक्रोश जताया कि क्षेत्र में बिना पर्यावरण बोर्ड की अनुमति के क्रशर चल रहे हैं, लेकिन विभाग उन पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी एनएस राणा ने कहा कि दो क्रशरों ने विभाग में आवेदन किया है। मानकों की पूर्ति के बाद ही इन क्रशरों को एनओसी निर्गत की जाएगी। शेष तीन क्रशरों ने विभाग में कोई आवेदन नहीं किया है। घेराव करने वालों में ग्राम प्रधान शूरवीर सिंह बिष्ट, राजेंद्र सिंह राणा, हरीश बलूनी, दिनेश भट्ट, गंगा सिंह, नंदा देवी, रुकमणी देवी, लक्ष्मी देवी, विधाता देवी, सीता देवी यशोदा देवी आदि शामिल थे।
 
 
 
सौजन्य: अमरउजाला
 
 
Advertisements