भारत भी अब बनने जा रहा है दुनिया का सबसे बड़ा सौर्य ऊर्जा वाला देश, क्योकि मध्यप्रदेश के रीवा जिले में दुनिया का सबसे बड़ा और देश का पहला ‘अल्ट्रा मेगा सोलर पॉवर प्लांट’ स्थापित किया जाएगा। संयुक्त रूप से स्थापित किए जाने वाले इस संयंत्र के लिए धनराशि विश्व बैंक देगा। मुख्य सचिव एस. आर. मोहंती ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इसकी लागत लगभग 4,000 करोड़ रुपये आएगी और इससे 700 मेगावॉट बिजली का उत्पादन होगा। अभी तक का इस समय सबसे बड़ा 500 मेगावॉट का ‘अल्ट्रा मेगा सोलर पॉवर प्लांट’ अमेरिका में है। इससे पहले देश में सबसे बड़ा 130 मेगावॉट का सोलर पॉवर प्लांट भी मध्यप्रदेश के ही नीमच जिले में है। सोलर पॉवर प्लांट के लिए प्रदेश के ऊर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ला के गृह जिला रीवा की गुढ़ तहसील के चार गांव बरसेटा, रामनगर, लतार और बड़वार में लगभग 1300 हेक्टेयर जमीन का चयन हुआ है। जमीन का निरीक्षण गत 13 जून को विश्व बैंक और एसईसीआई का संयुक्त दल कर चुका है। भविष्य में राजस्थान, तमिलनाडु और जम्मू-कश्मीर में भी ऐसा ही ‘अल्ट्रा मेगा सोलर पॉवर प्लांट’ स्थापित करने की योजना चल रही है। मध्यप्रदेश ने यह परियोजना शुरू करने में इसलिए बाजी मार ली, क्योंकि राज्य सरकार ने इस प्रस्तावित सोलर पॉवर प्लांट के लिए भूमि आरक्षित कर ली है। विस्तार से देखने के लिए क्लिक करें।

सौजन्य से: ज़ी न्यूज़

Advertisements