उत्तराखंड मे हो रही बारिश से लोगों की ज़िंदगी थम सी गयी है। वही कुछ राज्यो मे समय से बारिश न होने से लोग आसमान की तरफ टकटकी लगाए हुये है। इतना जोरदार बारिश होने के कारण नदिया लबालब बह रही है। और जगह जगह हाइवे रोड पर भूस्खलन हो गया है। जिससे यातायात भी प्रभावित हो गया है। अभी पिछले साल का घाव हरा ही था, कि इस बार फिर लोग बारिश से परेशान हो गए है। बारिश से अलग अलग जिले के बहुत से यातायात मार्ग को बंद कर दिया गया है। प्रशासन ने मलबा साफ करने के लिए लोनिवि ने जेसीबी लगा दी है। बारिश के कारण मलबा हटाने में कामयाबी नहीं मिल पा रही। बृहस्पतिवार से जारी बारिश के कारण बदरीनाथ हाईवे मूल्यागांव में करीब आठ घंटे बंद रहा। हाईवे बंद होने से शहर में दूध और अन्य जरूरी वस्तुओं की सप्लाई प्रभावित हुई। लामबगड़ में हाईवे पर भारी मात्रा में भूस्खलन हो गया है। जबकि कंचनगंगा में जलस्तर बढ़ गया है और यहां बडे़-बडे़ बोल्डर हाईवे पर आ गए हैं। सीमा सड़क संगठन के कमांडर कर्नल निलेश चंदाराना का कहना है कि लामबगड़ में लगातार भूस्खलन हो रहा है। बारिश थमने के बाद ही हाईवे को खोला जा सकता है। जिलाधिकारी एसए मुरुगेशन ने बताया कि हाईवे सुचारु होने के बाद धाम और पड़ावों पर रोके गए तीर्थयात्रियों को आवाजाही की अनुमति दी जाएगी। विस्तार से देखें

सौजन्य से: अमर उजाला ब्यूरो

Advertisements